नवंबर २०१२ - जनवरी २०१३

विश्वमुक्ति अग्रणी अनुस्ठान का यह हिंदी संस्करण में भूटान की राष्ट्रपति डॉ ल्योनछेन जिग्मी थिनले कीट ह्यूमनटरिआन अवार्ड पाने की अभिभाषण है।
Author:
Digital (PDF)
INR 55.00

इसी में महात्मा गाँधी की भाषा दृस्टि ओर हिंदी की स्तिति प्रबंध, दीनानाथ पाठी: कुछ जिंज्ञासा, कश्मीर के कुछ मुद्दे पर एक संक्षिप्त बातचीत है । प्रबंध में अरुणेश निरन, अरुण होत्ता के साथ गल्प में यशपाल जी, जयंती पापाराब, रुता शुक्ला, पारमिता शतपथी, परेश पट्टनायक जी है | डॉ एस विजया, गुरु प्रसाद महंती, राजेंद्र किशोर पंडा, कुलदीप गुप्ता, रविंद्र सिंह ठाकुर, गायत्रीबाला पंडा, डॉ प्रसन्ना पाटशाणी की कविता भी है।

Report an Error